Moneycontrol » समाचार » राजनीति

कश्मीरी नेताओं के साथ PM मोदी की महाबैठक खत्म, जानिए क्या-क्या हुई बात

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा जल्द वापस मिले
अपडेटेड Jun 25, 2021 पर 09:02  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने जम्मू कश्मीर में भविष्य की रणनीति का खाका तैयार करने के लिए केंद्र शासित प्रदेश के 14 प्रमुख नेताओं (Jammu and Kashmir leaders) के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक की। जम्मू-कश्मीर के नेता अगस्त 2019 के बाद पहली बार पीएम मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ किसी बैठक में भाग लेने के लिए नई दिल्ली गए थे। कश्मीरी नेताओं को आश्वासन दिया गया कि केंद्र जम्मू और कश्मीर को राज्य का दर्जा देने के लिए प्रतिबद्ध है।


प्रधानमंत्री आवास पर करीब साढ़े तीन घंटे तक चली इस सर्वदलीय बैठक के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा जल्द वापस मिले। सूत्रों के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के सभी राजनीतिक दलों द्वारा पूर्ण राज्य की मांग की गई।


गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बैठक में हमने कांग्रेस की तरफ से सरकार के सामने 5 बड़ी मांगे सरकार के सामने रखी। सरकार राज्य का दर्जा जल्दी बहाल करे। उन्होंने कहा कि हमने बैठक में कश्मीरी पंडितों को घाटी में बसाने की बात भी बोली। केंद्र सरकार जल्द से जम्मू-कश्मीर में चुनाव करवाएं। बैठक में अधिकतर पार्टियों ने कहा कि 370 का मामला सुप्रीम कोर्ट में है।


पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) के नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा कि मैंने बैठक में कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग धारा 370 को रद्द होने से नाराज है। हम जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को फिर से बहाल करेंगे। इसके लिए हम शांति का रास्ता अपनाएंगे। इस पर कोई समझौता नहीं होगा।


महबूबा ने आगे कहा कि  मैंने बैठक में प्रधानमंत्री से कहा कि अगर आपको धारा 370 को हटाना था तो आपको जम्मू-कश्मीर की विधानसभा को बुलाकर इसे हटाना चाहिए था। इसे गैरकानूनी तरीके से हटाने का कोई हक नहीं था। हम धारा 370 को संवैधानिक और कानूनी तरीके से बहाल करना चाहते हैं।


नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि हमने बैठक में कहा कि 5 अगस्त 2019 को केंद्र सरकार के द्वारा 370 को खत्म करने के फैसले को हम स्वीकार नहीं करेंगे। हम अदालत के जरिए 370 के मामले पर अपनी लड़ाई लडेंगे। लोग चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर को पूर्ण रूप से राज्य का दर्जा दिया जाए।


जम्मू कश्मीर भाजपा के अध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के सभी नेताओं को विश्वास दिलाया है कि जम्मू-कश्मीर के उज्ज्वल भविष्य के लिए सभी मिलकर कार्य करेंगे। जम्मू-कश्मीर की मजबूती और जनता की भलाई के लिए हर कार्य किया जाएगा जिससे लोगों का भला हो।


पीडीपी के नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने कहा कि बैठक बहुत शानदार हुई। मैंने कहा कि 370 का मामला सु्प्रीम कोर्ट में है। सुप्रीम कोर्ट धारा 370 के मामले पर फैसला करेगा। मैंने धारा 370 कि कोई मांग नहीं रखी।


मुजफ्फर हुसैन बेग ने आगे कहा कि मैंने कहा कि 370 खत्म करने का फैसला जम्मू-कश्मीर विधानसभा के द्वारा होना चाहिए। जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा दिलाने की मांग सभी दलों ने की। पीएम ने जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने पर सीधे कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा पहले परिसीमन हो।


बैठक के बाद जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के अल्ताफ बुखारी ने कहा कि 370 का मामला सुप्रीम कोर्ट में है तो उस पर क्या बात होती। दुख तो हुआ इसकी शिकायत जरूर लोगों ने की लेकिन जब मामला सुप्रीम कोर्ट में है तो उसका फैसला सुप्रीम कोर्ट करेगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।