Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

जेट एयरवेज पर एंप्लॉयीज के बकाया लाखों रुपये के बदले प्रत्येक को 23,000 रुपये देने की पेशकश

रिजॉल्यूशन प्लान को हाल ही में नेशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल ने मंजूरी दी थी। एंप्लॉयीज एसोसिएशन ने इसके खिलाफ कोर्ट जाने की चेतावनी दी है
अपडेटेड Jul 12, 2021 पर 08:33  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिवालिया हो चुकी एयरलाइन जेट एयरवेज पर इसके एंप्लॉयीज के 3 लाख रुपये से लेकर 85 लाख रुपये तक बकाया हैं। इन एंप्लॉयीज को कंपनी के नए मालिकों कार्लरॉक-जालान की ओर से दिए गए रिजॉल्यूशन प्लान से झटका लगा है जिसमें प्रत्येक एंप्लॉयी को लगभग 23,000 रुपये का भुगतान करने की पेशकश की गई है।


नेशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल (NCLT) की ओर से हाल ही में रिजॉल्यूशन प्लान को मंजूरी दी गई है। इसके तहत, अगले तीन महीनों में एंप्लॉयीज में से 95 प्रतिशत के प्लान को सहमति देने पर भुगतान किया जाएगा। इसमें ग्रेच्युटी जैसे वैधानिक बकाया पर कोई जानकारी नहीं है और न ही वेतन की बकाया रकम के बारे में कुछ कहा गया है।


सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज की 2 घंटे की आमदनी मौजूदा जज की महीने की सैलरी से अधिक कैसे है


इससे जेट एयरवेज के एंप्लॉयीज के लिए स्थिति जटिल हो गई है।


ऑल इंडिया जेट एयरवेज ऑफिसर्स एंड स्टाफ एसोसिएशन के प्रेसिडेंट, किरण पावसकर ने बताया, "जेट ने एंप्लॉयीज से रिजॉल्यूशन प्लान के लिए हां या ना में वोट देने को कहा है। प्लान में प्रत्येक एंप्लॉयी की बकाया राशि का लगभग 0.5 प्रतिशत देने की पेशकश की गई है। अगर इस मुद्दे का समाधान नहीं होता तो हम इसे कोर्ट में चुनौती देंगे।"


एसोसिएशन ने हाल ही में सिविल एविएशन मिनिस्टर, लेबर मिनिस्टर और रीजनल लेबर कमिश्नर को इस बारे में एक पत्र लिखा है।


जेट एयरवेज पर इसके क्रेडिटर्स के लगभग 15,400 करोड़ रुपये बकाया हैं। इसमें से 1,254 करोड़ रुपये बकाया वेतन और ग्रेच्युटी के तौर पर एंप्लॉयीज और वर्कर्स के हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।