चक्रवात Yaas कल सुबह ओडिशा के धामरा पोर्ट के पास देगा दस्तक, जानिए पूरी डिटेल

दक्षिण पूर्व रेलवे ने भी बुधवार तक कई पैसेंजर स्पेशल ट्रेनों को रद्द करने की घोषणा की है
अपडेटेड May 26, 2021 पर 10:20  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने भविष्यवाणी की है कि चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) कल यानी 26 मई को सुबह ओडिशा के भद्रक जिले में स्थित धामरा पोर्ट के पास दस्तक दे सकता है। इसके बाद यह चक्रवात फिर झारखंड की ओर बढ़ेगा जिससे गुरुवार को झारग्राम, बांकुरा और पुरुलिया जैसे कई इलाकों में भारी बारिश होगी। बता दें कि यास देश के कई हिस्सों में तबाही मचा चुका है।


राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) ने चक्रवात के लिए अपनी तैयारियों के तहत ओडिशा और पश्चिम बंगाल में अब तक की सबसे अधिक टीमों को तैनात किया है। आपदा बल ने पांच राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह में तैनाती के लिए कुल 112 टीमों को तैयार किया है। ओडिशा में सबसे अधिक 52 और बंगाल में 45 टीमों को तैनात किया गया है। इनके अलावा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, झारखंड और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में बाकी टीमों को तैनात किया गया है।


क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र, भुवनेश्वर के वैज्ञानिक डॉ उमाशंकर दास ने बताया कि जिले में धमरा और चांदबाली के बीच चक्रवात के दस्तक देने का अनुमान है। IMD के महानिदेशक डॉ मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि यास के मंगलवार शाम तक बहुत भीषण चक्रवाती तूफान में बदलने की और चांदबाली में सबसे ज्यादा नुकसान की आशंका है। उन्होंने कहा कि चक्रवात के दस्तक देने के छह घंटे पहले और बाद तक इसका गंभीर असर देखने को मिलेगा।


मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने गृह राज्य मंत्री डी एस मिश्रा को राज्य के उत्तरी हिस्से में हालात की निगरानी करने के लिए बालासोर भेजा है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि तटवर्ती जिलों में लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने का काम तेजी से हो रहा है और दोपहर तक 50,000 लोग सुरक्षित शिविरों में चले गए हैं। उन्होंने बताया कि यास के तट तक पहुंचने के बहुत पहले ही यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।


चक्रवात के दस्तक देने के दौरान समुद्र में 2-4.5 मीटर की लहरें उठने के अनुमान के चलते लोगों को को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। पश्चिम बंगाल में अब तक करीब आठ लाख से अधिक लोगों को बाहर निकाला गया है, जबकि ओडिशा में 11 लाख से अधिक लोगों को सुरक्ष‍ित स्‍थानों पर पहुंचाए गए हैं। IMD ने कहा कि यह तूफान पिछले छह घंटे के दौरान 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-पश्चिमोत्तर दिशा की ओर बढ़ रहा है।


ओडिशा के मयूरभंज जिले और पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर और दक्षिण 24 परगना जिलों में हवा की रफ्तार 100-120 किलोमीटर प्रति घंटे से बढ़कर 145 किलोमीटर प्रति घंटे की हो सकती है। ओडिशा के पुरी, कटक, खुर्दा और जाजपुर जिले तथा पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम, पश्चिम मेदिनीपुर और उत्तरी 24 परगना जिलों में 80-90 किलोमीटर रफ्तार की हवाएं 110 किलोमीटर तक पहुंच सकती हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।