Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जोमेटो का Grofers ने 10-12 करोड़ डॉलर का निवेश प्लान अंतिम दौर में, जल्द हो सकता है एलान

आईपीओ की तैयारी में लगी फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमेटो ऑनलाइन ग्रोसरी स्टार्टअप ग्रोफर्स में 10 से 12 करोड़ डॉलर की अपनी निवेश योजना पर आगे बढ़ रही है.
अपडेटेड Jun 20, 2021 पर 09:20  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आईपीओ की तैयारी में लगी फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमेटो ऑनलाइन ग्रोसरी  स्टार्टअप ग्रोफर्स (Grofers) में 10 से 12 करोड़ डॉलर की अपनी निवेश योजना पर आगे बढ़ रही है। इस निवेश के लिए Grofers का वैल्यूएशन 1 अरब डॉलर किया गया है।


मामले से जुड़े सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि यह निवेश योजना अपने अंतिम चरण में है और अगले कुछ हफ्तों में कभी भी इसका एलान हो सकता है।


ऑनलाइन ग्रोसरी प्लेटफॉर्म ग्रोफर्स में निवेश की यह योजना जोमेटो के आईपीओ प्लान के समानान्तर चल रही है। बता दें कि मार्केट रेगुलेटर सेबी ने जोमेटो के प्रस्तावित आईपीओ को अपनी मंजूरी दे दी है। जोमेटो ने अप्रैल के अंत में सेबी में अपने आईपीओ से संबंधित  पेपर दाखिल किए थे। यह इस साल का भारत का बहुप्रतिक्षित इंटरनेट कारोबार पर आधारित किसी कंपनी का आईपीओ होगा।


मामले की जानकारी रखने वाले सूत्रों का कहना है कि सेबी अगले कुछ हफ्तों में जोमेटो द्वारा अपने आईपीओ के लिए दाखिल पेपर पर अपना फाइनल ऑब्जर्वेशन जारी कर सकता है।


बता दें कि किसी आईपीओ के सेबी में दाखिल DRHP पर सेबी के फाइनल ऑब्जर्वेशन के बाद ही आईपीओ की प्रक्रिया आगे बढ़ती है। जोमेटो के आईपीओ के संदर्भ में किए गए रोड शो को निवेशकों से काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिला था। तमाम संस्थागत निवेशक इस आईपीओ में  अपनी रूचि  दिखा रहे हैं।


इस मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने मनीकंट्रोल को बताया कि जोमेटो और ग्रोफर्स के बीच की डील लगभग पूरी हो चुकी है और यह पूरी होने के अंतिम चरण में है।


सूत्रों के मुताबिक आगे दोनों का मर्जर भी हो सकता है लेकिन अभी ऐसा कुछ नहीं होने वाला है क्योंकि इससे जोमेटो के आईपीओ लॉन्च में देरी हो सकती है।


इस खबर पर मनीकंट्रोल द्वारा की  गई पूंछताछ पर ग्रोफर्स के प्रवक्ता ने कहा कि  वह बाजार अटकलों पर कोई टिप्पणी नहीं करते। वहीं जोमेटो ने इसका कोई जवाब नहीं दिया है।


बता दें कि  ऑनलाइन ग्रोसरी फर्म ग्रोफर्स (Grofers) के को-फाउंडर सौरव कुमार (Saurabh Kumar) इन यूनिकॉर्न स्टार्टअप से एग्जिट कर गए हैं। कंपनी के दूसरे को-फाउंडर और सीईओ अलबिंदर ढींडसा (Albinder Dhindsa) ने ट्वीट करते यह जानकारी दी है। सौरव कुमार ने Grofers को छोड़ने का फैसला ऐसे समय में किया है जब ऑनलाइन फूड डिलिवरी फर्म जोमौटो (Zomato) इसमें बड़ा निवेश करने के लिए बातचीत कर रहा है।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.