Moneycontrol » समाचार » राजनीति

वर्चुअल रैली में गरजे अमित शाह, कहा- ममता जी हिसाब मांगती हैं, तो हिसाब लेकर आया हूं

पश्चिम बंगाल में अगले साल विधान सभा के चुनाव होने हैं, ऐसे में अमित शाह ने चुनाव का शंखनाद कर दिया है
अपडेटेड Jun 09, 2020 पर 16:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पश्चिम बंगाल में अगले साल यानी 2021 में विधान सभा के चुनाव होना है। BJP ने अपना चुनाव अभियान शुरू कर दिया है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की जनता से वर्चुअल रैली (virtual rally) के जरिए जनसवंवाद किया। इस दौरान उन्होंने राज्य की सीएम ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा।


उन्होंने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं कि BJP सिर्फ आंदोलन करने के लिए बंगाल के मैदान में नहीं आई है। BJP सिर्फ राजनीतिक दल के विस्तार लिए नहीं आई है। बल्कि BJP फिर से बंगाल को संस्कारिक बंगाल बनाना चाहती है।


अमित शाह ने ममता बनर्जी से सवाल पूछते हुए कहा कि ममता जी, क्या बंगाल के गरीब लोगों को फ्री और अच्छी वाली मेडिकल सुविधा पाने का कोई अधिकार नहीं है? आयुष्मान भारत योजना को यहाँ अनुमति क्यों नहीं दी गई। ममता जी, गरीबों के अधिकारों पर राजनीति करना बंद करें। शाह ने आगे कहा कि देशभर में आयुष्मान भारत योजना को स्वीकार किया गया है। आखिरी में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी दिल्ली में लागू किया। लेकिन आप क्यों पश्चिम बंगाल में इस योजना को लागू कर रही हैं। ये बंगाल की जनता आपसे पूछना चाहती है।


शाह ने कहा कि राज्य की सीएम ममता जी आप हमारा हिसाब मांगती हैं तो मैं आपके पास हिसाब लेकर आया हूं। आप कल एक प्रेस कांफ्रेंस करके अपने 10 साल का हिसाब दीजिएगा। शाह ने तंज कसते हुए कहा कि ध्यान दीजिएगा कहीं बम धमाकों या बंद हुई फैक्टरियों की संख्या मत बता दीजिएगा। BJP के मार दिए कार्यकर्ताओं की संख्या मत बता दीजिएगा।


शाह ने किसानों के अकाउंट में नकद पैसे पहुचाए जाने पर कहा कि UPA ने 10 साल में एक बार 3.5 करोड़ किसानों का 60 हज़ार करोड़ रुपये का लोन माफ किया था। लेकिन इसके आंकड़े कुछ और हैं। मोदी जी ने 9.5 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में 72 हज़ार करोड़ रुपये पहुंचाने का काम किया है। इसके साथ ही हर साल किसानों को 6,000 रुपये दिए जा रहे हैं। पश्चिम बंगाल में पीएम किसान सम्मान निधि लागू नहीं होने से किसानों को आर्थिक नुकसान हो रहा है। शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल के किसान साइक्लॉन अम्फान का मारा है, उसे आप 6,000 रुपये लेने से रोक रही हैं। आप शनिवार को लिस्ट दीजिए। हम सोमवार को पैसा भेज देंगे। 


प्रवासी मजदूरों के मामले में अमित शाह ने कहा कि कोरोना वायरस लॉकडाउन में जब ट्रेनें शुरू हुईं तो सबसे कम पश्चिम बंगाल के लिए ट्रेनें चलीं। जो प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए ट्रेनें चलाई गईं हमने उनका नाम श्रमिक स्पेशल ट्रेन रखा। लेकिन आपने उनका नाम कोरोना एक्सप्रेस रख दिया। 


शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के कहर के अलावा अम्फान तूफान से कई लोगों ने अपनी जान गंवाई है। मैं उन्हें सबको श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।