Moneycontrol » समाचार » अमेरिकी बाजार

वॉरेन बफे की कंपनी Berkshire Hathaway के शेयर की कीमतें इतनी बढ़ीं कि इसने NASDAQ को ही ‘फोड़’ दिया

बर्कशायर हैथवे के क्लास ए शेयर की कीमतें इतनी अधिक हो गई हैं कि इसने अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज Nasdaq के कम्प्यूटर सिस्टम को ही ब्रेक कर दिया
अपडेटेड May 08, 2021 पर 10:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दुनिया के सबसे दिग्गज निवेशकों में शुमार वॉरेन बफे (Warren Buffett) की कंपनी बर्कशायर हैथवे (Berkshire Hathaway) के क्लास ए शेयर की कीमतें इतनी अधिक हो गई हैं कि इसने अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज Nasdaq के कम्प्यूटर सिस्टम को ही ब्रेक कर दिया है। इस वजह से मंगलवार से ही Nasdaq के कम्प्यूटर Berkshire Hathaway के क्लास ए शेयर की कीमतें नहीं दिखा पा रहे हैं।

आपको बता दें कि मंगलवार को Berkshire Hathaway के क्लास ए शेयर की कीमतें 4,21,000 डॉलर यानी 3.09 करोड़ रुपये प्रति शेयर तक पहुंच गए थे। इसके बाद से ही Nasdaq के कम्प्यूटर कंपनी के शेयर की कीमतें नहीं दिखा पा रहे हैं। हालांकि, बताया जा रहा है कि कल इसके इसके एक शेयर की कीमत 4,35,120 डॉलर यानी 3.20 करोड़ रुपये तक पहुंच गई।

जबकि, Nasdaq के कम्प्यूटर सिर्फ 4,29,496 डॉलर तक की कीमतें ही हैंडल कर सकते हैं। Berkshire Hathaway के क्लास ए शेयर की कीमतें बढ़ने से अब Nasdaq को अपने कंप्यूटर सिस्टम को अपग्रेड करना पड़ेगा, इसके बाद ही वह बर्कशायर हैथवे के क्लास ए शेयर की कीमतें निवेशकों के दिखा सकेगा। अभी तक Nasdaq ने अपने सिस्टम को अपग्रेड नहीं किया है।

आपको बता दें कि अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज Nasdaq में लिस्टेड किसी भी कंपनी के शेयर की कीमत Berkshire Hathaway के क्लास ए शेयर की कीमतों के आसपास भी नहीं है। Berkshire Hathaway के क्लास ए शेयर की कीमतें जहां 3.20 करोड़ रुपये है, वहीं दूसरे नंबर पर सबसे महंगा शेयर NVR Inc का है, जिसकी कीमत 5100 डॉलर यानी 3.75 लाख रुपये है।

इस वजह से इतना महंगा है शेयर

Berkshire Hathaway के क्लास ए शेयर की कीमतें इतनी अधिक होने की यह वजह है कि कंपनी के इतिहास में अब तक इसके शेयर को कभी स्प्लिट नहीं किया गया है। 1980 में कंपनी की स्थापना होने के बाद से अब तक इसके शेयर का स्टॉक स्प्लिट आज तक कभी हुआ ही नहीं है।

Nasdaq ने सोमवार को कहा था कि वह अपने सिस्टम को 17 मई तक अपग्रेड कर देगा, ताकि 4,29,496 डॉलर से अधिक कीमत वाले शेयर को भी डिस्प्ले किया जा सके। आपको बता दें कि भारत में NSE और BSE को भी MRF के शेयर के मामले में ऐसी स्थिति क4 सामना करना पड़ सकता है, अगर MRF के शेयर की कीमतें 1 लाख रुपये के आंकड़े को छू जाती है।

NSE और BSE अभी 99,999 रुपये यानी 5 अंकों तक के शेयर की कीमतों को हैंडल कर सकते हैं। इससे अधिक अगर किसी कंपनी के शेयर की कीमतें पहुंच जाती हैं तो या तो कंपनी के अपने शेयर को स्प्लिट करना होगा या फिर NSE और BSE को अपने सिस्टम को अपग्रेड करना होगा। MRF के शेयर की कीमत 98,599.95 रुपये तक पहुंच गई थी।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।