RIL Q2 Result: मुनाफा 46% उछलकर 15,479 करोड़ रु पर रहा, आय में भी 50% का हुआ इज़ाफा

RIL Q2 Result: मुनाफा 46% उछलकर 15,479 करोड़ रु पर रहा, आय में भी 50% का हुआ इज़ाफा

30 सितंबर 2021 को समाप्त तिमाही में RILका मुनाफा 13,680 करोड़ रुपए पर रहा है।

अपडेटेड Oct 22, 2021 पर 8:40 PM | स्रोत : CNBC Awaaz
     
     
    live
    Volume
    Todays L/H
    More

    मार्केट कैप के हिसाब से देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने दूसरी तिमाही के नतीजे घोषित कर दिए हैं। 30 सितंबर 2021 को समाप्त तिमाही में कंपनी का मुनाफा 13,680 करोड़ रुपए पर रहा है। जबकि पिछली यानी जून तिमाही में कंपनी का मुनाफा 12,273 करोड़ रुपए रहा था। बता दें कि दूसरी तिमाही में कंपनी के मुनाफे के 12,480 करोड़ रुपए पर रहने का अनुमान किया गया था।

    30 सितंबर 2021 को समाप्त तिमाही में कंपनी की कंसोलिडेटेड आय 1,67 लाख करोड़ रुपये रही है। गौरतलब है कि इसी वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंपनी की कंसोलिडेटेड आय 1.40 लाख करोड़ रुपये रही थी। जबकि CNBC TV18 के अनुमान पोल में इसके 1.58 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान किया गया था।

    Jio Platforms Q2 results: रिलायंस जियो का नेट प्रॉफिट 23.5% बढ़कर 3528 करोड़ रुपए रहा, आमदनी 18735 करोड़ रुपए

     

    प्रतिशत के आधार पर देखें तो सालाना आधार पर कंपनी के मुनाफे में 46 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। वहीं तिमाही आधार पर इसमें 12.1 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। गौरतलब है कि पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 10,602 करोड़ पर रहा था। जबकि तिमाही आधार पर देखें तो इसी वित्त वर्ष की जून तिमाही में कंपनी का मुनाफा 13,806 करोड़ रुपये पर रहा था।

     

     

    वहीं अगर कंपनी की आय पर नजर डालें तो प्रतिशत के आधार पर इसमें सालाना आधार पर 49.8 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। वहीं तिमाही आधार पर 20.6 फीसदी की बढ़त देखने को मिली। दूसरी तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटेड EBITDA पिछली तिमाही के 23,368 करोड़ रुपये से बढ़कर 26,020 करोड़ रुपये पर रहा है। जबकि कंसोलिडेटेड EBITDA मार्जिन 15.5 फीसदी पर रहा है।

     

     

    कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने इस मौके पर कहा है कि वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही में कंपनी का प्रदर्शन काफी मजबूत रहा है।

     

     

    कंपनी को उसकी अंतर्निहित मजबूती के साथ ही भारतीय और ग्लोबल इकोनॉमी में हो रही रिकवरी का जोरदार फायदा मिला है। हमारे सभी बिजनेस वर्टिकल्स के कारोबार में प्री-कोविड लेवल से ज्यादा ग्रोथ देखने को मिली है। उन्होंने आगे कहा है कि कंपनी का ऑपरेशनल और वित्तीय प्रदर्शन कंपनी के रिटेल ऑयल एंड केमिकल और डिजिटल कारोबार में आई मजबूत ग्रोथ को प्रदर्शित करता है।

     

     

    उन्होंने आगे कहा कि कंपनी के O2C कारोबार को सभी प्रोडक्टों की मांग में आई जोरदार बढ़त और हायर ट्रांसपोर्टेशन फ्यूल मार्जिन का फायदा मिला है। रिलायंस रिटेल के कारोबार में डिजिटल और फिजिकल दोनों तरह के प्लेटफॉर्मों के विकास का असर देखने को मिला है। इसकी वजह से कंपनी के रिटेल कारोबार के आय और मार्जिन दोनों में बढ़ोतरी देखने को मिली है।

     

     

    अंबानी ने आगे कहा कि रिलायंस जियो भारत ब्रॉड बैंड मार्केट के बदलाव की सूत्रधार बनी हुई है। आगे चलकर यह इंडस्ट्री के लिए नए मानक स्थापित करेगी। गौरतलब है कि 19 अक्टूबर को कंपनी के शेयरों ने 2,750 रुपये का नया रिकॉर्ड हाई छुआ था। कंपनी का मार्केट कैप 18 लाख करोड़ पहुंच गया था।

     

     

    कंपनी ने हाल ही में सोलर एनर्जी के लिए कई करार किए हैं। जुलाई से अब तक यह शेयर 24 फीसदी भागा है और इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन करीब 18.3 लाख करोड़ पहुंच गया है।

     

    सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

    (डिस्क्लेमर: नेटवर्क 18 मीडिया एंड इनवेस्टमेंट लिमिटेड पर इंडिपेंडेंट मीडिया ट्रस्ट का मालिकाना हक है। इसकी बेनफिशियरी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज है।)

    MoneyControl News

    MoneyControl News

    First Published: Oct 22, 2021 8:40 PM