Moneycontrol » समाचार » विदेश

Tokyo Olympics के बीच जापान ने 31 अगस्त तक बढ़ाई Covid-19 इमरजेंसी

सरकार के एक पैनल ने साईटामा, कानागावा और चिबा और ओसाका में सोमवार से आपात स्थिति 31 अगस्त तक बढ़ा दी है
अपडेटेड Jul 31, 2021 पर 09:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ओलंपिक (Olympics 2020) की मेजबानी के दौरान कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के रिकार्ड मामलों के बाद जापान शुक्रवार को टोक्यो (Tokyo) के पड़ोसी प्रांतों में कोरोना इमरजेंसी (Covid emergency) को बढ़ा दिया है। सरकार के एक पैनल ने साईटामा, कानागावा और चिबा और ओसाका में सोमवार से आपात स्थिति 31 अगस्त तक बढ़ाने की मंजूरी दे दी है।


टोक्यो में पहले ही Covid-19 इमरजेंसी लगी हुई है और अगस्त के अंत तक ओकिनावा में भी इस आपात स्थिति को बढ़ा दिया गया है। प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने शुक्रवार को आधिकारिक रूप से आपात स्थिति बढ़ाने की घोषणा कर दी। हालांकि, पांच दूसरे क्षेत्र होकाइडो, क्योटो, हयोगो ओर फुकुओवा में आपात पाबंदियां इतनी कड़ी नहीं होंगी।


टोक्यो ने लगातार तीन दिनों तक संक्रमण के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज की है, जिसमें गुरुवार को 3,865 और शुक्रवार को 3,300 नए मामले सामने आए हैं। पिछले हफ्ते से मामले दोगुने हो गए हैं, हालांकि अधिकारियों का कहना है कि इस उछाल का ओलंपिक से कोई संबंध नहीं है।


अधिकारियों ने कहा कि 2,995 लोग अस्पताल में भर्ती हैं, 6,000 बेड्स की मौजूदा क्षमता का लगभग आधा, कुछ अस्पताल पहले से ही भरे हुए हैं। 10,000 से ज्यादा दूसरे लोग घर पर या होटलों में आइसोलेट हैं, लगभग 5600 घर इंतराज कर रहे हैं। स्वास्थ्य केंद्र तय करते हैं कि उनका इलाज कहां किया जाएगा।


टोक्यो उन लोगों के लिए भी एक सुविधा स्थापित कर रहा है, जिन्हें अस्पताल के बिस्तरों की प्रतीक्षा करते समय ऑक्सीजन की जरूरत होती है।


सुगा ने कोरोना इमरजेंसी के विस्तार की घोषणा करते हुए कहा, "टोक्यो और पश्चिमी महानगरीय क्षेत्रों में संक्रमण इतनी तेज गति से बढ़ रहा है कि हमने पहले कभी अनुभव नहीं किया है।" उन्होंने कहा कि अगर इसी रफ्तार से संक्रमण का बढ़ना जारी रहता है, तो जापान की चिकित्सा प्रणाली ध्वस्त हो सकती है।


राष्ट्रव्यापी, जापान ने गुरुवार को 10,687 मामले दर्ज किए, जो पहली बार 10,000 से ज्यादा थे। महामारी शुरू होने के बाद से, टोक्यो में 2,288 मौत सहित COVID-19 से एक दिन में 15,166 मौतें दर्ज की गईं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।