रिजर्व बैंक ने SBI पर लगाया 1 करोड़ रुपये का जुर्माना, एक कस्टमर के खाते से जुड़ा है पूरा मामला

रिजर्व बैंक ने SBI पर लगाया 1 करोड़ रुपये का जुर्माना, एक कस्टमर के खाते से जुड़ा है पूरा मामला

RBI monetary penalty: नियामकीय निर्देशों का पालन नहीं करने के मामले में यह जुर्माना लगाया गया है

अपडेटेड Oct 18, 2021 पर 8:43 PM | स्रोत : Moneycontrol.com

RBI monetary penalty: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सोमवार को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) पर 1 करोड़ रुपये का भारी-भरकम जुर्माना लगाया। रिजर्व बैंक ने पाया कि SBI ने उसके द्वारा तय कुछ नियामकीय दिशा निर्देशों के पालन में लापरवाही बरती है, जिसके चलते केंद्रीय बैंक ने यह कठोर कदम उठाया। बता दें कि SBI देश का सबसे बड़ी बैंक है।

आरबीआई ने कहा कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (फ्रॉड्स क्‍लासिफिकेशन एंड रिपोर्टिंग बाय कमर्शियल बैंक्‍स एंड सेलेक्‍ट फाइनेंशियल इंस्‍टीट्यूशंस) निर्देश 2016 का पालन नहीं करने को लेकर स्टेट बैंक पर यह जुर्माना लगाया गया है।

फाइनेंस सेक्टर के 6 स्टॉक्स जो 1 वर्ष में बने मल्टीबैगर

आरबीआई ने कहा कि SBI ने कमर्शियल बैंकों और चुनिंद वित्‍तीय संस्‍थानों की ओर से ग्राहकों के साथ हुई धोखाधड़ी के वर्गीकरण और उनकी रिपोर्टिंग से जुड़े नियमों का उल्‍लंघन किया था। केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसने यह जुर्माना बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा-47ए (1)(सी) के प्रावधानों के तहत मिली शक्तियों का इस्‍तेमाल करते हुए लगाया है।

रिजर्व बैंक ने अपने बयान में यह भी साफ किया कि इस जुर्माने की कार्रवाई का बैंक के ग्राहकों को दी जाने वाले किसी भी तरह की सुविधा पर कोई असर नहीं होगा।

क्या है पूरा मामला
रिजर्व बैंक ने SBI की ओर से मेनटेन किए जाने वाले एक ग्राहक खाते की पड़ताल की। इसमें पता चला कि एसबीआई ने आरबीआई निर्देशों के अनुपालन में देरी की।

Upcoming IPO:अडानी विल्मर, नायका, स्टार हेल्थ इंश्योरेंस सहित 6 कंपनियों को सेबी से IPO के लिए मंजूरी

आरबीआई ने ग्राहक खाते के साथ ही उससे संबंधित कॉरेस्‍पॉन्‍डेंस और अन्य बातों की भी पड़ताल की। इसमें पता चला कि खाते में धोखाधड़ी की सूचना आरबीआई को देरी से दी गई। इस मामले में बैंक को कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा गया कि निर्देशों का पालन नहीं करने पर उस पर जुर्माना क्यों न लगाया जाए?

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Oct 18, 2021 8:43 PM

सब समाचार

+ और भी पढ़ें