Covid-19 Third Wave: भारत में अगले 14 दिनों में चरम पर होगी कोरोना की तीसरी लहर, IIT की स्टडी में दावा - covid-19 third wave coronas third wave will peak in next 14 days in india iit madras study | Moneycontrol Hindi

Covid-19 Third Wave: भारत में अगले 14 दिनों में चरम पर होगी कोरोना की तीसरी लहर, IIT की स्टडी में दावा

डेटा ने मुंबई, कोलकाता, चेन्नई के तीन और मेट्रो शहरों का R-Value क्रमशः 0.67,0.56 और 1.2 होने का संकेत दि

अपडेटेड Jan 23, 2022 पर 3:13 PM | स्रोत :Moneycontrol.com
Covid-19 Third Wave: भारत में अगले 14 दिनों में चरम पर होगी कोरोना की तीसरी लहर, IIT की स्टडी में दावा
भारत में अगले 14 दिनों में चरम पर होगी कोरोना की तीसरी लहर (FILE)

IIT मद्रास (IIT Madras) की एक शुरुआती स्टडी के अनुसार, भारत में अगले एक पखवाड़े यानी 15 दिनों में Covid-19 की वर्तमान लहर अपने चरम (Third Wave Peak) पर पहुंच सकती है। R-वैल्यू, जिससे यह पता लगता है कि Covid-19 की दर से फैल रहा है, वो जनवरी 14 से 21 हफ्ते में 1.57 हो गई है। यह वैल्यू, बताती है कि एक संक्रमित व्यक्ति से किस दर से वायरस कितने लोगों में फैल सकता है।

शुरुआती विश्लेषण IIT मद्रास के गणित विभाग और कम्प्यूटेशनल गणित और डेटा विज्ञान के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की तरफ से प्रोफेसर नीलेश एस उपाध्याय और प्रोफेसर एस सुंदर की अध्यक्षता में कम्प्यूटेशनल मॉडलिंग द्वारा किया गया था।

डेटा ने मुंबई, कोलकाता, चेन्नई के तीन और मेट्रो शहरों का आर-वैल्यू क्रमशः 0.67,0.56 और 1.2 होने का संकेत दिया।

आगे बताते हुए, डॉ. जयंत झा, असिस्टेंट प्रोफेसर, गणित विभाग, IIT मद्रास, ने कहा कि मुंबई और कोलकाता के आर-वैल्यू से पता चलता है कि पीक वहां खत्म हो गया है और यह स्थानिक होता जा रहा है, जबकि दिल्ली और चेन्नई के लिए यह अभी भी 1 के करीब है।

Night Curfew, Sunday Lockdown: इन राज्यों में जारी है नाइट कर्फ्यू और रविवार को लॉकडाउन, देखिए पूरी लिस्ट

उन्होंने कहा, "इसका कारण यह हो सकता है कि नए ICMR दिशानिर्देशों के अनुसार, उन्होंने कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की आवश्यकता को हटा दिया है और इसलिए पहले की तरह कम संक्रमण हैं।"

झा ने आगे कहा कि उनके विश्लेषण के अनुसार, अगले 14 दिनों में 6 फरवरी तक कोरोनावायरस पीक आने की संभावना है। पहले की भविष्यवाणी थी कि तीसरी लहर का चरम 1 फरवरी से 15 फरवरी के बीच होने की संभावना है।

शीर्ष स्वास्थ्य निकाय ICMR ने दिशानिर्देश जारी किए हैं, जिसके अनुसार कोरोनावायरस मरीजों के संपर्कों में आए लोगों के तब तक टेस्ट की जरूरत नहीं है, जब तक कि उन्हें उम्र या कोमोरबिडिटी के आधार पर ज्यादा जोखिम के रूप में पहचाना नहीं जाता है।

MoneyControl News

MoneyControl News

Tags: #Coronavirus

First Published: Jan 23, 2022 3:11 PM

हिंदी में शेयर बाजार, Stock Tips,  न्यूजपर्सनल फाइनेंस और बिजनेस से जुड़ी खबरें सबसे पहले मनीकंट्रोल हिंदी पर पढ़ें. डेली मार्केट अपडेट के लिए Moneycontrol App  डाउनलोड करें।