Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

BANK OF BARODA को करीब 1050 करोड़ रुपये का घाटा, जानिये ब्रोकरेज की निवेश सलाह

BANK OF BARODA को करीब 1050 करोड़ रुपए के घाटा हुआ लेकिन Asset quality उम्मीद से बेहतर दिखाई दी
अपडेटेड May 31, 2021 पर 15:40  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

चौथी तिमाही में BANK OF BARODA मुनाफे से करीब 1050 करोड़ रुपए के घाटे में आया लेकिन Asset quality उम्मीद से बेहतर रही।  ज्यादातर Brokerage नतीजों से खुश है और CLSA ने दिया सबसे ज्यादा 130 रुपए का Target दिया है।


वित्त वर्ष 2020-21 की अंतिम तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) के नतीजे बेहद निराशाजनक रहे। मार्च तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का स्टैंडअलोन नेट लॉस 1046.5 करोड़ रुपये रहा, जबकि दिसंबर तिमाही में बैंक को 1,061 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ था। इतना ही नहीं, FY20 के Q4 में भी बैंक को 506 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था।


Q4 में Bank of Baroda का नेट इंटरेस्ट इनकम 4% बढ़कर सालाना आधार पर 7,107 करोड़ रुपये तक पहुंच गया, जबकि पिछले साल की समान तिमाही में यह 6,798.4 करोड़ रुपये रहा था। मार्च तिमाही में बैंक के प्रोविजंस और कंटिंजेंसीज 3,586 करोड़ रुपये रहे जो दिसंबर तिमाही में 3,434.6 करोड़ रुपये और एक साल पहले FY20 के Q4 में 6,645 करोड़ रुपये रहा था।


BROKERAGES ON BANK OF BARODA


CLSA का BANK OF BARODA पर राय


CLSA ने BANK OF BARODA पर खरीदारी की रेटिंग दी है और शेयर का लक्ष्य 130 रुपये तय किया है।


JP MORGAN का BANK OF BARODA पर राय


JP MORGAN ने BANK OF BARODA पर ओवरवेट रेटिंग दी है और शेयर का लक्ष्य 110 रुपये तय किया है।


MS का BANK OF BARODA पर राय


MS ने BANK OF BARODA पर इक्वल वेट रेटिंग दी है और शेयर का लक्ष्य 100 रुपये तय किया है।


CREDIT SUISSE का BANK OF BARODA पर राय


CREDIT SUISSE ने BANK OF BARODA पर न्यूट्रल रेटिंग दी है और शेयर का लक्ष्य 75 रुपये तय किया है। उनका कहना है कि 50bps से कम Slippages से पॉजिटिव सरप्राइज नजर आया है जबकि एसेट क्वालिटी का ट्रेंड उम्मीद से बेहतर है। वहीं एसेट क्वालिटी का दबाव नियंत्रण में है और ग्रोथ की रफ्तार धीमी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।